क्यों होता है घुटनों में दर्द? क्या हैं उपचार पद्धतियां ?

December 9, 2020by admin-mewar
https://mewarhospitals.com/wp-content/uploads/2020/12/घुटनों-में-दर्द.jpg

क्यों होता है घुटनों में दर्द और क्या हैं उपचार पद्धतियां

बेहतर स्वास्थ्य जीवन में बड़ा महत्त्व रखता है। इसलिए हमें चाहिए कि सदैव अपनी सेहत पर ध्यान दिया जाए। अन्यथा हमें आने वाले वक्त में परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। हममें से कई लोग अपने बाहरी शरीर पर तो ध्यान देते ही हैं। लेकिन उसके साथ ही हमें अपने भीतरी अंगों पर भी ध्यान देने की ज़रूरत है। कई ऐसी समस्याऐं हैं जो आमतौर पर हम सुनते हैं। जैसे कि अगर बात करें घुटनों में दर्द की, ये अब सिर्फ ढलती उम्र वाले लोगों में ही नहीं, बच्चों और जवानों में भी उत्पन्न हो रही है। याद रहे कि इस तरह की परेशानी आपकी दिनचर्या पर असर डाल सकती है। इसलिए घुटनों के दर्द से जुड़ी कुछ बातें ऐसी है जिनका जानना ज़रूरी है।

यहां हम उन्हीं कुछ बातों को बताने की कोशिश कर रहे हैं। ताकि आप इस तरह के दर्द को गंभीरता से लें और सावधानी बरतें।

घुटनों का महत्त्व

हमारे शरीर में सबसे बड़ा और एक महत्त्वपूर्ण जोड़ घुटने का जोड़ है। इंसान का सही तरह से चलना, दौड़ना, कूदना, वज़न उठाना, और कई ज़रूरी काम घुटनों की उपस्थिति की वजह से होते हैं। इसके साथ ही हमारे शरीर के भार को उठाने में भी उनकी अहम भूमिका होती है। यदि हम सीढ़िया चढ़ या उतर रहे हैं तो इन चीज़ों में भी हमें घुटनों की आवश्यकता रहती है। परिणामस्वरूप आप समझ सकते हैं कि इनकी सुरक्षा और सेहत हमारे लिए कितनी आवश्यक है।

घुटनों में दर्द के कारण

कई ऐसे कारण हैं जो हमारे घुटनों के स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकते हैं। आइए पढ़ते हैं उन्हीं में से कुछ परिस्थितियों को।

1. फ्रेक्चर

किसी चीज़ या वस्तु के तेज़ी से टकराने पर या एक्सीडेंट जैसे क्षण में हड्डी टूटने की स्थिति पैदा हो जाती है। कभी ऐसा भी होता है कि इंसान ऊँचाई से गिर जाता है। फ्रेक्चर होने पर दर्द का एहसास होने लगता है। इसलिए अगर आप ऐसी अवस्था में आ जाएं और उदाहरण के तौर पर घुटने की हड्डी की तरफ दर्द महसूस हो तो डाॅक्टर से ज़रूर संपर्क करें।

2. ओस्टियोपोरोसिस

यह एक ऐसी बीमारी है जिसमें हड्डियों की मज़बूती कम हो जाती है। इसका एक मुख्य कारण कैल्शियम की कमी है। अगर किसी इंसान को इस बीमारी की शिकायत है, तो उसे घुटनों में दर्द की अनुभूति हो सकती है।

3. आर्थराइटिस

घुटनों में दर्द का एक मुख्य कारण आर्थराइटिस भी है। यह एक ऐसी परिस्थिति है जो कि हमारे शरीर के लिए घातक सिद्ध हो सकती है। हालांकि इसके कई प्रकार हैं, लेकिन ओस्टिओआर्थराइटिस हमारे घुटनों में स्थित कार्टिलेज को नुकसान पहुंचाती है। जिस वजह से इंसान को घुटनों में काफी ज़्यादा दर्द हो सकता है। यहां तक कि ओस्टियोआर्थराइटिस की वजह से लोगों को घुटनों की रिप्लेसमेन्ट सर्जरी तक करवानी पड़ जाती है।

4. बर्साइटिस

ये एक ऐसी परिस्थिति है जो खेल से जुड़ाव रखने वालों और कसरत करने वालों में ज़्यादा पाई जाती है। बर्साइटिस की वजह से घुटनों में सूजन और कुछ अन्य दिक्कतें हो सकती है।

5. अन्य कारण

इन चीज़ों के अलावा रूमेटाइड आर्थराइटिस, हड्डियों में ट्यूमर, लिगामेंट में चोट, आदि की वजह से भी घुटनों में तकलीफ हो सकती है।

घुटनों में दर्द के लक्षण

दर्द की मात्रा इस बात पर भी निर्भर करती है कि किस वजह से दर्द हो रहा है। कभी-कभी ऐसा हो जाता है कि दर्द महसूस तो होता है, लेकिन कुछ वक्त के बाद वो अपने आप चला जाता है। लेकिन कुछ लोगों को दर्द इस तरह प्रभावित करता है कि उनसे चला-फिरा भी ठीक से नहीं जाता।

अन्य घुटनों में दर्द के लक्षण कुछ इस प्रकार हैं।

1. वज़न उठाने में परेशानी का सामना करना।
2. घुटनों को मोड़ने में तकलीफ आना।
3. सीढ़ियां चढ़ने या उतरने में दिक्कत होना।
4. लेटने और बैठने पर भी दर्द महसूस होना।

घुटनों के दर्द का इलाज

कई ऐसी चीज़े हैं जिनके प्रयोग से डाॅक्टर हमारे घुटनों की जांच कर सकते हैं। जैसे की एक्स-रे, एम.आर.आई., सी.टी. स्केन, ब्लड टेस्ट, आर्थरोस्काॅपी, आदि। घुटनों के दर्द को दूर करने के लिए वो मरीज़ को दर्द-निवारक दवाईयां दे सकते हैं। इसके अलावा इंजेक्शन और फिज़ियोथैरेपी की सहायता भी ली जा सकती है। अगर इसके बावजूद दर्द में राहत नहीं मिलती, तो फिर घुटनों की रिप्लेसमेन्ट सर्जरी के लिए सलाह दी जा सकती है।

घुटनों के स्वास्थ्य को बेहतर रखने के उपाय

डाॅक्टर की सलाह लेना आवश्यक है, मगर आप चाहें तो कुछ चीज़ों के सेवन से भी फायदा प्राप्त कर सकते हैं।
1. जैसे अगर बात की जाए हल्दी की, तो यह सूजन और दर्द में आरामदायक मानी जाती है। एक गिलास दूध में हल्दी मिलाकर उसे गर्म कर लें। चाहें तो थोड़ा शहद भी मिला लें। घुटनों में दर्द होने पर इसका सेवन करें। इससे आपको काफी फायदा मिल सकता है।
2. हल्दी के अलावा मेथी का पाउडर, या भिगोई हुई मेथी खाली पेट चबाने और उसका पानी पीने से आपको घुटनों में दर्द की परेशानी में आराम मिल सकता है।
3. आप सेंधा नमक वाले पानी का सेक भी कर सकते हैं।
4. सरसों के तेल में लहसुन की कलियां गर्म करने के बाद उसको ठण्डा करके घुटनों में मालिश से भी फायदा मिल सकता है।
5. कुछ ऐसी चीज़े जिनकी तासीर गर्म हों उनका सेवन करें। जैसे कि दालचीनी, अदरक, और ज़ीरा कि इनकी बदौलत भी घुटनों में सूजन और दर्द की समस्या कम होती है।
6. बर्फ को किसी कपड़े में बांधकर दर्द की जगह पर थोड़े वक्त के लिए सिकाई करें।

इन चीज़ों का रखें ध्यान

1. याद रहे कि घुटनों में दर्द होते वक्त ऐसे कामों से बचा जाए जिनकी वजह से दर्द में बढ़ोतरी हो। जैसे कि किसी भारी सामान को उठाना।
2. कोशिश करें कि आपकी मांसपेशियां मज़बूत रहें। इसके लिए आप कसरत करें और घुटनों में दर्द की शिकायत से दूर रहें।
3. ज़्यादा वक्त तक कंप्यूटर पर बैठना भी घुटनों के दर्द और कमर दर्द को बढ़ावा दे सकता है। इसलिए ऐसे वक्त में ध्यान रखें कि एक अंतराल के बाद अपने शरीर को आराम दें और आप सही पोजिशन में बैठे हों। या फिर जिन लोगों की नौकरी ऐसी जगह है जहां घुटनों का स्वास्थ्य ज़्यादा प्रभावित होता है। तो वो बेहतर सलाह के लिए डाॅक्टर से घुटनों को बेहतर रखने के बारे में जानें।
4. डिप्रेशन में आने और धुम्रपान करने से ना सिर्फ आपके घुटनों, बल्कि पूरे शरीर पर नकारात्मक असर पड़ सकता है। इसलिए इन गतिविधियों से बचा जाए।

आप हमसे FacebookInstagramTwitterLinkedinYoutube & Pinterest पर भी जुड़ सकते हैं।

अपने ट्रीटमेंट्स से जुड़े सवाल पूछने के लिए आज ही देश की सर्वश्रेष्ठ ऑर्थोपेडिक टीम से बात करें।

Call now 0294 6633330

About Mewar Hospitals

Priyadarshani Nagar, Bedla,
Udaipur, Rajasthan 313001

YouTube
Connect With Us
Social Networks

Copyright 2020 by Mewar Hospitals. All rights reserved.

Copyright 2020 by Mewar Hospitals. All rights reserved.

Request a Call Back

Kindly fill in your details for Consultation

    x